Home » Content » रुतबा तो 'खामोशियों' का होता है

रुतबा तो 'खामोशियों' का होता है

"रुतबा तो 'खामोशियों' का होता है, अल्फ़ाजों का क्या..?,
ये तो अक्सर मुकर जाते हैं हालात देखकर !

Add new comment

सबसे ज्यादा बार पढ़ी / देखी जाने वाली शायरी / कविता / पोस्ट