Home » Content » हिचकियों मे वफा ढूँढ़ रहा था

हिचकियों मे वफा ढूँढ़ रहा था

हिचकियों मे वफा ढूँढ़ रहा था,
कम्बखत वो भी गुम हो गयी दो घूँट पानी मे.....

Add new comment

सबसे ज्यादा बार पढ़ी / देखी जाने वाली शायरी / कविता / पोस्ट